रियल एस्टेट का बिजनेस कैसे करे | Real Estate Business in Hindi

आज के इस लेख में हम आपको रियल एस्टेट के बिज़नेस के बारे में जानकारी देने वाले हैरियल एस्टेट का बिजनेस कैसे करे, रियल एस्टेट बिजनेस क्या होता है (what is real estate business in Hindi), बिजनेस कैसे शुरू करें और आखिर रियल एस्टेट का मतलब क्या होता है, इन सभी चीजों के बारेमे हम आपको बताने वाले है। 

रियल एस्टेट का बिजनेस कैसे करे
Real estate ka business kaise kare ?

यदि आपसे कोई पूछे कि ऐसा कौन सा बिज़नेस है जिसमे इंसान बहुत जल्दी अमीर और बहुत ज्यादा पैसा कमा सकता है, तो इसके जवाब में आप उस इंसान को रियल एस्टेट का बिज़नेस बोल सकते है। 

जी हां, रियल एस्टेट एक ऐसा बिज़नेस है जिसमे आप बहुत सारा पैसा कमा सकते है।

परंतु इस बिज़नेस में आपको बहुत मेहनत करने की भी जरूरत पड़ती है, क्योंकि इस बिज़नेस में आप जितना मेहनत करोगे उतनी ही जल्दी आपको सफलता भी मिलेगी। 

यदि हम पिछले कुछ वर्षों पहले की बात करे तो बहुत से लोग रियल एस्टेट बिज़नेस को एक बुरा बिज़नेस मानते थे, क्योंकी इस बिज़नेस में सबसे ज्यादा धोखाधड़ी होती थी।

परंतु अब ऐसा नही रहा है, क्योंकि अब सरकार नए नए नियम लागू कर रही है जिसमे रियल एस्टेट बिज़नेस करने वालो का और लोगो का इन दोनों का नुकसान न हो।

तो यदि आप यह बिज़नेस शुरू करना चाहते है तो आपको इस बिज़नेस के बारे में अधिक से अधिक जानकारी होना बेहद जरूरी है।

तो चलिए सबसे पहले हम आपको रियल एस्टेट बिज़नेस क्या होता है इसके बारे में बताते है। 

रियल एस्टेट बिज़नेस क्या होता है ?

रियल एस्टेट बिज़नेस से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि आखिर रियल एस्टेट का मतलब क्या है

तो रियल एस्टेट का सीधा सा मतलब यह है कि यह एक प्रकार की संपत्ति होती है जो कि फिजिकल या रियल में होती है।

इसमे भूमि, बिल्डिंग, प्लॉट, दुकान या फिर किसी का घर भी हो सकता है।

रियल एस्टेट में इन सभी को बेचने या खरीदने का काम किया जाता है।

तो अब आप यह जान चुके है कि रियल एस्टेट क्या होता है।

यह तो थी रियल एस्टेट की बात वही रियल एस्टेट के सामने बिज़नेस लगा दिया जाए तो यह रियल एस्टेट का कारोबार बन जाएगा। 

तो रियल एस्टेट बिज़नेस का मतलब यह होता है कि, इस बिज़नेस के अंदर प्लाट, मकान, दुकान, बिल्डिंग, फ्लैट जैसे संपत्ति से संबंधित सभी तरह के काम करना या फिर आप यह भी समझ सकते है कि जमीन से संबंधित सभी काम करना।

यदि आप इन सभी कामो में से कोई एक काम भी करते है तो आप बोल सकते है कि आप रियल एस्टेट बिज़नेस करते है।

इस बिज़नेस में कुछ एजेंट भी होते है जो प्लाट, मकान, दुकान, बिल्डिंग, फ्लैट यह सभी बिकवाने या किसी को दिलाने का काम करते है और बदले में अपना कमीशन चार्ज करते है। 

यदि आप इस बिज़नेस को करना चाहते है तो यह भी जरूरी नही है कि आप सिर्फ जमीन का ही सौदा करे या फिर कोई फ्लैट बेचे, क्योंकि इस बिज़नेस के भी कुछा अलग अलग प्रकार होते है।

अब सभी प्रकारों में से आप कोई भी एक प्रकार चुनकर अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है।

तो चलिए अब हम आपको नीचे रियल एस्टेट के इस बिज़नेस से सम्बंधित सभी प्रकारों के बारेमे बता देते है। 

ररियल एस्टेट बिज़नेस के कितने प्रकार है ?

वैसे तो रियल एस्टेट में बहुत सी चीजें आती है, जैसे जमीन से लेकर बिल्डिंग बनाने और बेचने तक। परंतु नीचे हम आपको इसके दो सबसे जरूरी प्रकार बता रहे रहे जिसे फॉलो करके आप भी अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है।

रियल एस्टेट एजेंट

यदि आप चाहो तो रियल एस्टेट एजेंट का बिज़नेस भी शुरू करके अच्छे खासे पैसे कमा सकते है। इन दिनों बहुत से ऐसे लोग है जो सिर्फ रियल एस्टेट एजेंट का काम कर रहे है और लाखो रुपये कमा रहे है।

परंतु यदि आप रियल एस्टेट एजेंट बनना चाहते है तो आपको यह भी पता होना चाहिए कि रियल एस्टेट एजेंट कौन सा काम करते है। 

यदि आपको नही पता कि रियल एस्टेट एजेंट कौन सा काम करता है तो कोई बात नही हम आपको बता देते है।

एक रियल एस्टेट एजेंट घर, प्रॉपर्टी, दुकान, फ्लैट, बिल्डिंग इन सभी की डीलिंग करता है।

इसका मतलब यह लोगो को प्रॉपर्टी खरीदने या बेचने में मदद करता है और इसके बदले में कमिशन लेता है।

आप रियल एस्टेट एजेंट को ही प्रॉपर्टी डीलर भी बोल सकते है। 

बिल्डर

बिल्डर, यह भी रियल एस्टेट बिज़नेस का एक प्रकार है। आपने कई बार बड़े बड़े फ्लैट स्कीम का नाम सुना होगा और कई बार छोटे छोटे फ्लैट स्कीम भी देखी होगी।

तो यह जो फ्लैट स्कीम होती है यह बिल्डर लोगो की ही होती है।

यदि आप एक बिल्डर बनते है तो आप एक रियल एस्टेट एजेंट से ज्यादा पैसे कमा सकते है।

आज हमारे देश मे ऐसे कई नामचीन बिल्डर है जिनके बड़े बड़े और महँगे से महँगे फ्लैट स्कीम है।

तो यदि आप बिल्डर बनना चाहते है तो यह वाकई में एक अच्छी बात है, लेकिन यदि आपको नही पता कि बिल्डर कैसे बना जाता है तो कोई बात नही हम आपको यहां पर बता देते है। 

तो बिल्डर बनने के लिए सबसे पहले आपको कोई जमीन खरीदने की जरूरत होती है।

उसके बाद आपको किसी आर्किटेक्चर की जरूरत होती है जो कि आपके फ्लैट स्कीम का पूरा प्लान बनाकर दे।

फिर एक बार जब आपका फ्लैट बनकर तैयार हो जाता है तब आप उस बिलिंग में मौजूद सभी फ्लैट को स्कीम के तहत बेच सकते है और भरी मुनाफा कमा सकते है। और इसी काम को एक बिल्डर करता है। 

यह तो थे रियल एस्टेट बिज़नेस के दो मुख्य प्रकार, परंतु यदि आप यह दोनो प्रकार के बिज़नेस करना चाहते है या फिर इन मे से कोई भी एक बिज़नेस करना चाहते है, तो आप डायरेक्ट इन बिज़नेस को शुरू नही कर सकते है।

क्योंकि इसकी भी एक प्रोसेस होती है। तो चलिए अब हम आपको इस बिज़नेस को शुरू करने की प्रोसेस बताते है। 

रियल एस्टेट बिजनेस कैसे शुरू करें ? (Business process)

यदि आप ऐसा सोच रहे है कि रियल एस्टेट का बिज़नेस शुरू करना बहुत मुश्किल काम है, तो ऐसा बिल्कुल भी नही है।

इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको सिर्फ कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है। 

इसलिए यदि आप इस बिज़नेस को शुरू करने पर विचार कर रहे हैं, तो आपको इस पर विचार करना चाहिए कि यह बिज़नेस शुरू करने के लिए बहुत सारे काम, प्रशिक्षण और समय की आवश्यकता होती है, साथ ही आपको यह भी तय करना होगा कि आप किस प्रकार की रियल एस्टेट बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं।

  1. सबसे पहले तो आपको अपनी सेवाओं के लिए बाजार की मांग का सावधानीपूर्वक आकलन करने की आवश्यकता है। यानी आपको यह जानने की जरूरत है कि क्या लोगों को आपकी सेवाओं की आवश्यकता है या नही या फिर आपके प्रतिस्पर्धी कौन हैं, और साथ ही यह भी निर्धारित करें कि आपका व्यवसाय लाभदायक हो सकता है या नहीं।
  2. आपको भारत में प्रॉपर्टीज के संबंध में प्रचलित कानूनों का भी अच्छा ज्ञान होना चाहिए क्योंकि प्रत्येक राज्य में कानून अलग-अलग होते हैं, क्योंकि प्रॉपर्टीज का व्यवसाय शुरू करना आम तौर पर थोड़ी मुश्किल प्रक्रिया हो सकती है इसीलिए इस बिज़नेस को समझने के लिए कम से कम दो साल लग सकते हैं।
  3. अपनी खुद की कंपनी शुरू करने से पहले, आपको एक लाइसेंस प्राप्त रियल एस्टेट ब्रोकर बनने की आवश्यकता है, या फिर यदि आप बिल्डर बनना चाहते है तो इसके लिए भी आपको लाइसेंस की जरूरत पड़ती ही है और साथ मे ही आपको कंपनी रजिस्ट्रेशन करने की भी जरूरत है। 

तो चलिए अब हम आपको रियल एस्टेट बिज़नेस की रजिस्ट्रेशन प्रोसेस के बारे में भी जानकारी दे देते है ताकि जब आप यह बिज़नेस शुरू करे तो आपको किसी दिक्कत का सामना न करना पड़े। 

आपको यह बात पता होना चाहिए राज्य सरकार इस तरह के व्यवसाय को चलाने के लिए रियल एस्टेट एजेंट लाइसेंस होना अनिवार्य कर रही है। 

आमतौर पर जिले के उपायुक्त यह लाइसेंस जारी करते हैं। यदि आप आवेदन करना चाहते है तो आवेदन की जांच के लिए नजदीकी रजिस्टर कार्यालय या नगर निगम से संपर्क करें।

इस लाइसेंस के लिए शुल्क अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होते हैं।

आम तौर पर, एक व्यक्ति आवेदन कर रहा है तो प्रॉपर्टी डीलर लाइसेंस के लिए पच्चीस हजार रुपये शुल्क लगता है।

वही यदि कोई कंपनी आवेदन करती है तो उसे पचास हज़ार रुपये शुल्क लग सकता है। 

रियल एस्टेट बिज़नेस के लिए कंपनी कैसे रजिस्टर करें ?

यदि आप बड़े लेवल पर बिज़नेस की शुरूवात करना चाहते है तो आपको लाइसेंस के साथ ही कंपनी रजिस्ट्रेशन करना भी जरूरी है। तो चलिए नीचे हम आपको कुछ स्टेप्स बता रहे है जिसे फॉलो करके आपको कंपनी रजिस्टर करने में मदद मिल सकती है।

  1. सबसे पहले आपको यह सोचना है कि आपको किस तरह की कंपनी रजिस्टर करना है जैसे प्राइवेट लिमिटेड, एलएलपी, पार्टनरशिप फर्म या वन पर्सन कंपनी करना है।
  2. अब इसके बाद आपको अपने कंपनी का नाम खोजने की जरुरत है और साथ ही आपको यह भी देखना चाहिए कि इस नाम की कंपनी पहले से मौजूद है या नहीं।
  3. आपको कंपनी का नाम रजिस्टर करने के लिए ट्रेडमार्क रजिस्ट्रेशन करने की भी आवश्यकता है।
  4. इसके बाद आपको मेमोरेंडम ऑफ एसोसिएशन (एमओए) और आर्टिकल्स ऑफ एसोसिएशन (एओए) को तैयार करना है।
  5. इसके बाद आपको आरओसी, के साथ ई-फॉर्म दाखिल करना है।
  6. फिर आपको आरओसी शुल्क और स्टाम्प शुल्क का भुगतान करना है।
  7. आरओसी द्वारा दस्तावेजों का वेरिफिकेशन किया जाएगा। 
  8. फिर अंत मे आरओसी द्वारा निगमन प्रमाणपत्र जारी करेगा।

 

Conclusion

तो इस लेख में हमने आपको रियल एस्टेट का बिजनेस कैसे करे इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी है।

इसके अलावा, रियल एस्टेट बिजनेस क्या है ( what is real estate business in Hindi ) इसके बारेमे भी हमने आपको बता दिया है। 

हम आशा करते है कि आज का यह लेख आपको पसंद आया होगा।

यदि आपको आज का यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ और सोशल मीडिया साइट पर जरूर शेयर करे। 

 

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Copy link