प्रॉफिटेबल डीलरशिप व्यापार विचारों | Dealership business ideas in Hindi

आज के इस आर्टिकल की मदत से हम जानेंगे, डीलरशिप व्यापार क्या होता है (what is dealership business in Hindi), कैसे शुरू करे और कुछ जबरदस्त डीलरशिप व्यापार विचारों ( Dealership business ideas in Hindi) के बारेमे। 

डीलरशिप व्यापार विचारों

आज हमारे सामने कुछ अच्छे सवाल हैं कि डीलरशिप व्यापार क्या है, कैसे करे और बिजनेस आइडिया आदि ? और यह सवाल आपके पास भी होंगे,

परंतु इसके जवाब क्या हैं? देखिये, डीलर एक ईकाई है, जो विनर्माणकर्ता और उपभोक्ता के बीच की एक कड़ी हाती है, और डीलरशिप एक तरह का व्यापार है।

इस आर्टिकल में हम डीलरशिप और इसके बिजनेस आइडिया से जुड़ी सभी जानकारियों को प्राप्त करेंगे और एक सफल व्यावसाय की शुरूआत करते हुए अच्छे पैसे कमाएंगे।

ध्यान रहे कि डीलरशिप शुरू करने से पहले आपके पास योजना, रणनीति, निष्पादन, मांग और पूंजी सहीत सभी पहलुओं का अच्छा ज्ञान होना चाहिए, अन्यथा यह बिजनेस आपके लिए नही हैं।

Article Contents

डीलरशिप व्यापार क्या होता है ?

हम बच्चपन से बुढ़ापे तक सभी सामानों को मार्केट, सुपरमार्केट या ऑनलाइन स्टोर से खरिदते हैं, लेकिन यह सामान निर्माणकर्ता (कंपनी) से आपूर्ति श्रृंखला में पहुंचता है और इस आपूर्ति श्रृंखला (Supply Chain) से ग्राहक (उपभोक्ता) तक पहुंचता है।

इस आपूर्ति श्रृंखला में वितरकों और डीलरों सहित विभिन्न लोग शामिल होते हैं। हम इस श्रृंखला के एक पहलु ‘डीलर’ के बारे में जानेंगे।

वितरण प्रक्रिया क्या है ?

यह उत्पाद (प्रोडक्ट) वितरण की प्रक्रिया है, जिसमें कंपनी अपने उत्पाद या सेवाओं को ग्राहकों तक पहुंचाती है। ये उत्पाद या सेवाएं विभिन्न माध्यमों जैसे स्टोर, ई-कॉमर्स वेबसाइट, सुपरमार्केट, फूटकर विक्रेताओं और टेलीमार्केटर आदि से पहुंचते हैं।

इस प्रक्रिया में ग्राहक और कंपनी के बीच विभिन्न मध्यस्थ शामिल होते हैं, जिसमें डिस्ट्रीब्यूटर और डिलर भी शामिल होते हैं। हालांकि कभी-कभी दोनों को एक समान माना जाता हैं, लेकिन में अत्यंत भिन्नता हैं।

डीलर कौन होता है ?

डीलर कोई एक व्यक्ति या ईकाई हो सकता है जो वितरण प्रणाली में एक मिडल मैन के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है। डीलर से अभिप्राय एक ऐसे व्यक्ति से होता है जो अपने खाते से प्रोडक्ट को खरिद कर, उसे स्टॉक में रखता है और उन प्रोडक्ट को सीधे ग्राहकों को बेंचता है।

साधारण भाषा में समझे तो यह एक ईकाई होता है जो किसी विशेष उत्पाद (प्रोडक्ट) की ट्रेडिंग करता है। डीलर प्रोडक्ट के वितरक और उपभोक्ता के बीच मध्यस्थता का कार्य करता है, मतलब वितरक से सामान खरिदता है और उपभोक्ता (ग्राहक) को बेंचता है।

ये व्यक्ति किसी विशेष क्षैत्र में वस्तुओं के अधिकृत विक्रेता होते हैं और कंपनी किसी एक क्षैत्र में अनेक डीलर्स हो सकते हैं इसलिए विभिन्न डीलरों के बीच एक भंयकर प्रतिस्पर्धा चलती है। कोई भी एक डीलर अन्य डीलरों के ग्राहकों को आकर्षित कर सकता है।

संपूर्ण मार्केट में प्रतिस्पर्धा के कारण किसी डीलर के पास ज्यादा ग्राहक होते है, तो किसी के पास कम ग्राहक होते हैं। 

ध्यान दे कि डीलर वितरक से सामान अपने पैसों से खरिदता है और ग्राहकों को बेंचता है, इसलिए इस बिजनेस को B&C (Business to Customer) व्यापार कहते हैं। और ऐसे डीलर के बिजनेस को डिलरशिप बिजनेस कहते है।

वितरक (Distributor) कौन है ?

यह भी वितरण प्रणाली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, जो सीधे कंपनी से प्रोडक्ट को लेता है, और डीलर या सीधे ग्राहक को प्रोडक्ट बेंचता है। यह वक्ति किसी कंपनी के लिए एक एजेंट के रूप में कार्य करता है, जो कंपनी से प्रोडक्ट लेता है और किसी निर्धारत क्षैत्र में विभिन्न डिलरों को बेंचता है।

ये वितरक माल को अपने पैसों से खरिदकर स्टॉक में नही रखते है, बल्कि कंपनी के स्टॉक माल को सीधे ग्राहकों और डीलरों को बेंचते हैं। इसका क्षैत्र काफी बड़ा होता है और किसी एक क्षैत्र में कंपनी का केवल एक ही डिस्ट्रीब्यूटर होता है अत: वितरकों में कम प्रतिस्पर्धा होती है। इसके अलावा इनके काम का क्षैत्र बढ़ाया जा सकता है, मतलब यह गांव, शहर और राज्य स्तर पर कंपनी के प्रोडक्ट या सेवाओं को वितरित कर सकते हैं।

यह बिजनेस टू बिजनेस या बिजनेस टू कस्टमर के रूप में कार्य करते हैं।

कैसे शुरू करे डीलरशिप बिजनेस ?

एक सफल डीलरशिप बिजनेस शुरू करने के लिए आपके पास डीलरशिप बिजनेस आइडिया, प्लान, निष्पादन, मांग और पूंजी सहित अनेक पहलुओं का सही ज्ञान होना चाहिए।

डीलर बनने के लिए आपको डीलरशिप व्यापार विचारों को जानने की आवश्यकता हैं, और इस डीलरशिप बिजनेस प्लान को आप आठ चरणों में समझ सकते हैं। अगर आप एक सफल डीलरशिप बिजनेस शुरू करना चाहते है, तो आपको निम्न आठ चरणों की पालना करनी चाहिए।

1. एक प्रोडक्ट या सेवा चुनें

पहले चरण में आपको एक बेस्ट प्रोडक्ट कैटेगरी चुननी है, जिसकी मांग कार्यशील क्षैत्र में ज्यादा हों। अच्छी प्रोडक्ट कैटेगरी को ढुंढने के लिए कुछ दिनों का समय निकाले और स्थानीय बाजार को एनालाइश करे। इसके अलावा आप अन्य डिलरशिप से भी मिल सकते हैं।

2. सप्लायर्स से संबंध

किसी एक प्रोडक्ट कैटेगरी को चुनने के बाद, आपको स्थानीय सप्लायर्स से जुड़ना चाहिए जो आपसे सामान खरिदें।

3. ऑफिस या वर्कप्लेस स्थापित करे

अगले चरण में आपको एक स्थान ढुंढना होगा, जहां से आप अपने सप्लायर्स को आसानी से प्रोडक्ट्स की सप्लाई कर सको। ध्यान रहे कि उस स्थान चयन करे, जहां पर आप आसानी से इन्वेंट्री को स्टॉक कर सकते हो। स्टॉकिंग का काम आप शुरूआत में घर से शुरू कर सकते है।

4. फ्रेंचाइजर खोजे

अब आपको किसी ब्रांड की फ्रैंचाइजी को लेना चाहिए, क्योंकि स्क्रैच से डिलरशिप बिजनेस करना कठिन होता है। ये फ्रेंचाइजी आप अपने किसी भी पसंदीदा प्रोडक्ट की कंपनी से ले सकते हैं।

5. क्रेडिट नीति प्राणाली

एक अच्छा डीलरशिप बिजनेस शुरू करने के लिए आपको विश्लेषण करना होगा कि आपके खरिदार कौन है और क्या वे आपके प्रोडक्टस या सेवाएं खरिद सकते है। यह भी सुनिश्चित करे कि उनके पास क्रेडिट कितना है। इस तरह आपको क्रेडिट नीति प्रणाली बनाए।

6. शानदार और मजबूत नेटवर्क

डीलरशिप बिजनेस को लम्बे समय तक बनाए रखने के लिए आपको अपने सप्लायर्स के बीच मजबूत नेटवर्क बनाना होगा, ताकि अन्य डीलर आपके सप्लायर को न ले जाए। यह बिजनेस आपको अपने अच्छे सिद्धांतो पर खड़ा करना चाहिए।

7. खरीद नीति बनाए

बिजनेस को खरिद नीति से करे, अर्थात् थोक में उत्पाद खरिदे, उन्हे छोटी इकाइयों में दोबार पैक करे और अंत में उन्हे उच्च कीमत पर बैंचे। इससे अच्छा मुनाफा मिलेगा।

8. संपूर्ण व्यवसाय पर नजर रखे

अपने रिटेलर्स (सप्लायर्स) के अधिक संपर्क में रहे और बाजार की मांग पर लगातार नजर रखे।

डीलरशिप व्यापार विचारों (dealership business ideas in Hindi)

अब हम डीलरशिप व्यापार विचारों पर ध्यान केंद्रित करेंगे, मतलब भारत के बेस्ट डीलरशिप बिजनेस आइडिया के बारे में जानेंगे, जिनसे अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता हों।

ऑटोमोबाइल डीलरशिप व्यापार

यह व्यापार शहरी इलाकों में ज्यादा प्रचलित हैं, क्योंकि आबादी के साथ वाहनों का उपयोग भी कई गुना बढ़ गया है। इसलिए आप ऑटोमोबाइल एक्सेसरीज से संबंधित डिलरशिप व्यवसाय शुरू कर सकते हैं, मतलब वाहन की मरम्मत करना या वाहनों से संबंधित एक्सेसरीज बेचने का व्यवसाय शुरू कर सकते है।

प्रसाधन सामग्री बिजनेस आइडिया

यह व्यापार वर्षों से अग्रणी रहा है, क्योंकि इसकी जरूरत हमेशा से रही है हालांकि वर्तमान में इस कैटेगरी में प्रतिस्पर्धा भी अधिक हैं। इस डिलरशिप बिजनेस को आप शुरू कर सकते हैं, लेकिन प्रतिस्पर्धा को ध्यान में रखते हुए किसी अग्रणी ब्रांड के साथ शुरू करे।

भवन निर्माण सामग्री बिजनेस आइडिया

भवन निर्माण सामग्री उपलब्ध करवाना भी एक अच्छी डिलरशिप बिजनेस आइडिया है, क्योंकि भवन निर्माण प्रत्येक प्रकार के क्षैत्र में होता है। इस व्यापार में आप भवन निर्माण सामग्री जैसे सीमेंट, ईंट, टीएमटी रॉड आदि का कारोबार कर सकते हैं।

कृषि उपकरण या उर्वरक

अगर आप ग्रामीण इलाके में है तो आप इस डिलरशिप व्यापार के बारे में सोच सकते हैं। इस व्यवसाय में कृषि उपकरण और उर्वरक थोक में बेच सकते है, और इसमें निवेश मध्यम होता है।

रंग और रासायनिक डिलरशिप व्यापार

यह भी एक आवश्यक डिलरशिप आइडिया है, क्योंकि सभी जगह पर रंग, रसायन और प्लास्टिक जैसी अनेक साग्रीयों की आवश्यकता होती है। इस साग्रीयों को आप थोक के रूप में प्राप्त करके अधिक मुनाफे पर बेंच सकते हैं।

इंजीनियरिंग उपकरण बिजनेस आइडिया

यह भी एक अच्छा आइडिया है, जिसमें आप क्रेन, हाइड्रा, और सिविल उपकरण जैसे इंजीनियरिंग उपकरणों को बेंच सकते है, हालांकि यह व्यवसाय अधिक निवेश की मांग करता है। इसके अलावा यह बिजनेस आप किसी बड़े शहर में कर सकते हैं, छोटे शहर के लिए उपयोगी नही है।

रत्न और आभूषण आइडिया

इस डिलरशिप व्यवसाय को शुरू किया जा सकता है लेकिन इसके लिए आपको अच्छे ज्ञान और सक्षम टीम की आवश्यकता होगी। इसके अलावा आपको विश्वसनीय ब्रांडेड कंपनी से जुड़ने की आवश्यकता है। इस व्यवसाय में आपको अधिक पूंजी निवेश करने की आवश्यकता है। 

घरेलू सामग्री बिजनेस आइडिया

आप घरेलू सामग्री के लिए भी डिलरशिप बिजनेस शुरू कर सकते है। इस घरेलू सामग्री में खाद्य रासन और घरेलू उपयोगी साग्रीयां सम्मिलत हैं। यह व्यवसाय भी काफी वर्षों से चलता आ रहा है, इसलिए प्रतिस्पर्धा भी अधिक होगी। इस व्यापार को शुरू करने के लिए आपको बाजार की मांग विश्लेषण करना होगा और अधिक मांग वाले प्रोडक्ट कैटेगरी को चुनना होगा।

इलेक्ट्रोनिक उपकरण बिजनेस आइडिया

आप कई प्रकार के इलेक्ट्रोनिक के लिए डिलरशिप बिजनेस शुरू कर सकते है, जैसे रेफ्रिजरेटर, मिक्सचर, ग्राइंडर, ए.सी., टीवी, मोबाइल, मोबाइल एक्सेसरीज और घरेलू उपकरण इत्यादि। इस व्यापार में अधिक निवेश की भी आवश्यकता पड़ सकती है।

थोक कपड़ा व्यापार

यह भारतीय सभ्यता का सबसे पुराना उद्योग है, और इस व्यापार में थोक उत्पाद पहले स्थान पर है। थोक उत्पाद में आप धागे, फैब्रिक, फुटवियर, होम फर्निशिंग और रेडिमेड गारमेंट्स आदि जैसे उत्पाद शामिल हैं। आप इन सामग्रीयों के लिए डिलरशिप बिजनेस कर सकते है, यह एक आइडिया है।

थोक खाद्य पदार्थ व्यापार

यह भी एक आइडिया है, जिसकी डिमांग बहुत ज्यादा है। खाद्य थोक पदार्थों में बेकरी आइटम, जैम, जेली, पेय पदार्थ, डेयर, स्नेक्स जैसे अनेक पदार्थ शामिल हैं। 

प्लास्टिक उत्पाद व्यापार

इस समय में प्लास्टिक उत्पादों का सबसे अधिक उपयोग किया जाता है, जिसमें बोतल, टिफिन, कुर्सियां, डग, फ्लास्क आदि जैसे प्लास्टिक चीजे शामिल है।

आयुर्वेदिक दवाओं का व्यापार

हाल में आयुर्वेदिक दवाओं का काफी चलन है और लोग आयुर्वेदिक दवाओं पर विश्वास भी कर रहे हैं। आप इस कैटेगरी में डिलरशिप व्यावसाय शुरू कर सकते हैं, क्योंकि आयुर्वेदिक दवाओं के साइडइफेक्ट नही होते हैं। हालांकि आपको यह बिजिनेस ध्यान से करना होगा।

अन्य व्यापार

डीलरशिप बिजनेस आइडिया में फर्नीचर वितरण, रसोई बर्तन, अनाज का थोक विक्रेता, बच्चों के खिलौने, रेडिमेड स्नैक्स, विद्युत उपकरण, उपहार और हस्तशिल्प उत्पाद आदि शामिल हैं।

अंतिम शब्द

इस आर्टिकल में हमने डीलरशिप व्यापार और व्यापार विचारों पर विस्तृत अध्ययन किया है।

आज आपने क्या सीखा ?

तो दोस्तों, आजके इस आर्टिकल की मदत से हमने जाना के, डीलरशिप बिज़नेस प्लान क्या होता है और इसके साथ कुछ डीलरशिप व्यापार आइडियाज (dealership business ideas in Hindi) के बारेमे।

अगर आपको हमारे बताये हुवे डीलरशिप बिजनेस आइडियाज पसंद आते है, तो कृपया इस आर्टिकल को सोशल मीडिया पर जरूर से शेयर कोरे। 

इसके अलावा डीलरशिप बिजनेस से सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव हो तो हमे निचे कमेंट कर जरूर बताए।

 

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Copy link