बिटकॉइन (bitcoin) क्या है ? क्या होता है Bitcoin ई-वॉलेट

दोस्तों आजके इस आर्टिकल पर हम बात करेंगे के, Bitcoin क्या होता है (What Is Bitcoin in Hindi) और बिटकॉइन से हरे सारे जरुरी तथ्यों के बारेमे।

दोस्तों मुद्रा (currency) अलग अलग तरह के होते है और अलग अलग देश के currency अलग अलग होते है।

लेकिन bitcoin एक ऐसा currency है जो एक digital currency होता है और जिसे हर देश में bitcoin के नाम से ही जाना जाता है।

हॉलहीमे बिटकॉइन को लेकर बोहोत ही बाते हो रही है और लोग इसे पैसे कमाने का एक तरीका भी समझ रहे है।

क्योंकि एक बिटकॉइन की कीमत हमेशा ऊपर निचे होती रहती है।

और इसीलिए अगर आप कम कीमत में बिटकॉइन खरीदते है और बिटकॉइन की कीमत बढ़ने पर वापस बेच देते है,

तो यक़ीनन आपको फ़ायदा होने वाला है।

लेकिन, bitcoin पर पैसे invest करने से पहले आपको सहीसे जान लेना चाहिए के आखिर ये बिटकॉइन क्या होता है ?

बिटकॉइन क्या है ? (What is Bitcoin in Hindi)

बिटकॉइन क्या है ?
About bitcoin currency in Hindi

Bitcoin एक तरह की क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency) है, जो कि भुगतान के लिए क्रिप्टोग्राफी का इस्तेमाल करता है।

यह अंग्रेजी शब्द ‘क्रिप्टो‘ से बना हुआ है, जिसका अर्थ होता है गुप्त।

हम एक तरह से कह सकते हैं कि Bitcoin एक digital या Virtual Currency है।

Instant payment के लिए यहाँ peer-to-peer technology का इस्तेमाल किया जाता है।

Bitcoin एक decentralized digital currency है जिसे सीधा सीधा buy, sell और exchange किया जा सकता है बिना किसी intermediary (bank) के।

यह ठीक रुपए, Dollar जैसी Currency के रूप में ही काम करता है, लेकिन यह डिजिटल फ़ॉर्म (Digital Currency) होता है।

यानी आप इसका उपयोग तो कर सकते हैं, लेकिन इसे छू नहीं सकते हैं और इसे केवल डिजिटल फॉर्म में ही देखा, अनुमान लगाना, गिनना या रक्खा जा सकता है। 

इस डिजिटल वॉलेट में रखा जाता है। Bitcoin का आविष्कार साल 2009 में सतोषी नाकामोटो ने किया था।

Bitcoin का इस्तेमाल क्या है?

(1) Bitcoin का इस्तेमाल आप चीजों को ऑनलाइन खरीदने और बेचने के लिए कर सकते हैं।

(2) अगर आप Investment करना चाहते हैं, तो Bitcoin में इन्वेस्ट कर सकते हैं। Bitcoin की बढ़ती कीमतों के साथ ही आपको काफी अच्छा रिटर्न मिल सकता है। लेकिन कई बार ऐसा होता है कि इसकी कीमतों में गिरावट के साथ नुकसान भी उठाना पड़ सकता है।

(3) अगर आप भारत में हैं तो Bitcoin को आप रुपए में कन्वर्ट करा सकते हैं। इसके साथ अलग-अलग देशों की Currency में इसे Convert कराया जा सकता है। 

(4) Bitcoin एक पर्सनल से दूसरे पर्सनल ई-वॉलेट में ट्रांसफर कर सकते हैं।

क्या होता है Bitcoin ई-वॉलेट

जो Bitcoin हम खरीदते हैं, वह एक डिजिटल वॉलेट में स्टोर रहते हैं।

इस डिजिटल वॉलेट को ही Bitcoin वॉलेट कहा जाता है।

यह एक तरह का वर्चुअल बैंक खाता होता है, जिसके साथ एक पासवर्ड भी होता है।

Bitcoin वॉलेट को इस्तेमाल करने वाले डेस्कटॉप, लैपटॉप या मोबाइल ऐप के माध्यम से उपयोग कर सकते हैं।

इसमें एक सावधानी यह बरतनी होती है कि आप अपना पासवर्ड याद रखें।

अगर पासवर्ड भूल गए तो आपका वॉलेट ओपन नहीं होगा और आप उसका उपयोग नहीं कर सकेंगे।

भारत में Bitcoin कहां से खरीद सकते हैं?

भारत में Bitcoin को खरीदने के लिए कई ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म उपलब्ध हैं।

इसमें उनोकॉइन, जेबपे, कॉइनसिक्योर, कॉइनमामा, लोकल Bitcoin और Bitcoin एटीएम पर खरीद की जा सकती है।

हालांकि, Bitcoin खरीदने में ज्यादातर ZEBPAY.COM और UNOCOIN.COM का इस्तेमाल होता है।

Bitcoin में इन्वेटस्ट कैसे करें?

Bitcoin में निवेश करने के लिए वेबसाइट के माध्यम से किसी एक एक्सचेंज पर अपना डिजिटल खाता या डिजिटल वॉलेट तैयार करना पड़ेगा।

आप मोबाइल ऐप का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, इसके माध्यम से आप Bitcoin खरीद सकते हैं।

यहां पर एक Bitcoin की कीमत में 1000 से 12,00,000 तक का उतार चढ़ाव हो सकता है।

ऐसे में एक Bitcoin खरीदना काफी महंगा होता है।

आप न्यूनतम 1000 रुपए से Bitcoin का एक अंश खरीद सकते हैं।

आपको यहां पर Bitcoin खरीदने में सतर्कता बरतनी होगी, क्योंकि यह डिजिटल करेंसी होती है।

आपको यह समझना आना चाहिए, कि आप नकली Bitcoin खरीद रहे हैं या असली। इस बारे में आपको पहले काफी रिसर्च कर लेना चाहिए।

Bitcoin खरीदने के लिए जरूरी डॉक्यूमेंट्स

भारत में Bitcoin खरीदने के लिए लगने वाले डॉक्यूमेंट्स

(1) पैन कार्ड

(2) आधार कार्ड

(3) वोटर आईडी कार्ड

(4) बैंक खाते के डिटेल्स

Bitcoin में इन्वेस्ट करने के फायदे क्या हैं?

(1) जनवरी 2020 में 1 Bitcoin की कीमत 5 लाख रुपए से ज्यादा थी। अब इसकी कीमत बढ़कर करीब 17 लाख रुपए हो गई है। तो आप खुद सोच सकते है की इसमें इन्वेस्ट करने में फ़ायदा तो जरूर है। 

(2) भारत के सुप्रीम कोर्ट ने भी क्रिप्टोकरेंसी कारोबार को मंजूरी दे दी है। साल 2021 से बिटक्वाइन में सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिये भी निवेश शुरू हो सकता है।

(3) एक्सचेंज के मुताबिक, 2021 में क्रिप्टो में भारी उछाल देखने को मिल सकता है। 

(4) जेबपे अगले साल एसआईपी, पैसिव इनकम और अपनी क्रिप्टो होल्डिंग के आधार पर क्रिप्टो उधार लेने जैसी वित्तीय सेवाएं भी शुरू करने जा रहा है।

(5) एक बिटकॉइन की कीमत 1 जनवरी 2016 को करीब 28,820 रुपए थी। वहीं, 22 दिसंबर 2020 को इसकी कीमत बढ़कर 16,80,817 रुपए तक पहुंच गई।

इन परिणामों और अनुमानों को अगर आधार मानकर चला जाए तो Bitcoin में इन्वेस्ट करना कोई घाटे का सौदा नहीं दिखाई देता है। बल्कि इसे भविष्य की एक और करेंसी माना जा सकता है। लेकिन, जैसा के मैंने बताया ही है, यहाँ अगर बिटकॉइन की कीमत घटती है तब आपको नुक्सान हो सकता है। 

Bitcoin में इन्वेस्ट करने से नुकसान क्या हैं?

Bitcoin के बढ़ते दाम देखते हुए ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि आने वाले समय में इसमें इन्वेस्ट करना घाटे का सौदा नहीं होगा।

मगर यह भी समझ लेना जरूरी है कि 2017 से लेकर 2020 तक इसके रेट में उतार-चढ़ाव एक बार सोचने पर मजबूर करता है।

इसमें कुछ कमियां भी हैं, जिनकी वजह से इसमें निवेश करना गलत फैसला हो सकता है।

(1) भारत में नहीं हैं कोई गाइडलाइन- Bitcoin को लेकर भारत में न तो कोई निर्धारित नियम है और न कोई गाइडलाइन हैं। ऐसे में Bitcoin के लेनदेन में होने वाले विवादों से निपटने के लिए कोई आधार भी नहीं मिलता है। Bitcoin में निवेश करते समय अपने जोखिम उठाने की क्षमता तय करनी होगी।

(2) भारत में व्यापकता नहीं- Bitcoin का इस्तेमाल ऑनलाइन खरीदारी या फिर ऑनलाइन पेमेंट के रूप में हो रहा है। इसके साथ ही आप सामान्य तौर पर किसी भी भुगतान में इसका उपयोग नहीं कर सकते हैं। भारत में इसका उपयोग लगभग किसी भी ऑनलाइन प्लेटफार्म में खरीदारी में नहीं हो रहा है, जैसे- बाइक, हाउस प्रोडक्ट आदि।

(3) कई देशों ने लगाया है प्रतिबंध- Bitcoin पर दुनिया के कई देशों ने अपने बाजारों में प्रतिबंध लगाया है। इसमें चीन का प्रमुख और शांघाई आधारित एक्सचेंज बीटीसी चाइना, युन्बी, वायाबीटीसी औऱ योबीटीसी भी शामिल हैं। भारत में भी क्रिप्टो करेंसी खरीदने-बेचने पर 10 साल की जेल की सजा थी। हालांकि अब सुप्रीम कोर्ट ने यह प्रतिबंध हटा दिया है।

(4) अवैध उपयोग- Bitcoin को खरीदने या बेचने वालों की पहचान करना मुश्किल होता है। इसका प्रयोग किस व्यक्ति ने किया ये पता नहीं लगाया जा सकता है। इसलिए Bitcoin का आपराधिक कामों में भी प्रयोग किया जा सकता है।

(5) मूल्य की अस्थिरता- जैसा कि आपको बताया इसके दाम/रेट में लगातार उतार-चढ़ाव बना रहता है। ऐसे में अधिक दाम में खरीदा गया Bitcoin किसी समय पर कम दाम का भी हो सकता है। इस मार्केट में आप अपना पैसा गंवा सकते हैं।

आज हमने क्या सीखा,,

तो दोस्तों आज हमने bitcoin के बारेमे जानकारी हासिल की और जाना आखिर ये बिटकॉइन होता क्या है।

इसके अलावा, बिटकॉइन से सम्बंधित कुछ और चीज़ो पर भी हमने बात की हे।

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल थोड़ा भी पसंद आया हो तो इसे शेयर जरूर करे।

क्योंकि, Bitcoin क्या है इसके बारेमे बोहोत से लोग जानना चाहते है।

और आपके एक share की मदत से उन्हें ये सब जानने को मिलेगा।

अगर आर्टिकल से सम्बंधित कुछ सवाल या सुझाव आपके मनमे है, तो निचे कमेंट कर हमे जरूर बताय।

 

error: Content is protected !!
Scroll to Top
Copy link